Hindi Shayari

Tareef Shayari ! तारीफ़ शायरी ! Shayari On Beauty Hindi

Tareef Shayari, Khubsurti ki Tareef Shayari in Hindi & English for Friends Girlfriend Wife, Best Shayari on Beauty in Two Lines.

Nowadays most people use Tareef Shayari (Hindi Tareef Shayari) to flirt. Tareef Shayari and Status is the most popular trend on the internet, Lover And Friend express their feelings through Status on social media like Facebook, WhatsApp, Instagram, etc. We are providing the Latest Collection of Shayari for Tareef like best Tareef Shayari, Latest Tareef Shayari in English, Hindi Tareef Shayari, Two Line Tareef Shayari, Tareef Sms, and Tareef Status. Also, Check our updated Shayari for GF.

Tareef Shayari in Hindi

Tareef Shayari in Hindi

चाँद के दीदार को तुम छत पर क्या चले आये,
शहर में ईद की तारीख मुकम्मल हो गयी।

अदा आई, जफा आई,
गरूर आया, इताब आया,
हजारों आफतें लेकर…
हसीनों का शबाब आया।

चाल मस्त, नजर मस्त, अदा में मस्ती,
जब वह आते हैं लूटे हुए मैखाने को।

पूछते हैं मुझसे की शायरी लिखते हो क्यों
लगता है जैसे आईना देखा नहीं कभी ।

मेरी निगाह-ए-शौक़ भी कुछ कम नहीं मगर,
फिर भी तेरा शबाब तेरा ही शबाब है।

तुम्हारी प्यार भरी निगाहों को देखकर
हमें कुछ गुमान होता है,
देखो ना मुझे इस कदर मदहोश नज़रों से
कि दिल बेईमान होता है।

नहीं बसती किसी और की सूरत अब इन आँखो में,
काश कि हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।

पता नहीं लबों से लब कैसे लगा लेते हैं लोग
तुमसे नजरें भी मिल जाये तो होश नहीं रहता ।

लिख दूं किताबें तेरी मासूमियत पर
फिर डर लगता है…
कहीं हर कोई तेरा तलबगार ना हो जाय।

वजह पूछोगे तो सारी उम्र गुजर जाएगी,
कहा ना अच्छे लगते हो तो बस लगते हो ।

हम भटकते रहे थे अनजान राहों में,
रात दिन काट रहे थे यूँ ही बस आहों में,
अब तमन्ना हुई है फिर से जीने की हमें,
कुछ तो बात है सनम तेरी इन निगाहों में।

Tareef Shayari in Two Lines

Tareef Shayari in Two Lines

कुछ इस अदा से आज वो पहलू-नशीं रहे,
जब तक हमारे पास रहे हम नहीं रहे।

हटा कर ज़ुल्फ़ चेहरे से
ना छत पर शाम को आना,
कहीं कोई ईद ही ना कर ले
अभी रमज़ान बाकी है।

उनको सोते हुए देखा था दमे-सुबह कभी,
क्या बताऊं जो इन आंखों ने शमां देखा था।

कम से कम अपने बाल तो बाँध लिया करो ।
कमबख्त..
बेवजह मौसम बदल दिया करते हैं ।

यह बात, यह तबस्सुम,
यह नाज, यह निगाहें,
आखिर तुम्ही बताओ
क्यों कर न तुमको चाहें।

तोहमते तो लगती रही
रोज़ नयी नयी हम पर,
मगर जो सबसे हसीन इलज़ाम था
वो तेरा नाम था!!

धडकनों को कुछ तो काबू में कर ए दिल,
अभी तो पलकें झुकाई हैं
मुस्कुराना अभी बाकी है उनका।

जैसे धुऐं के पीछे से सूरज का चमकना,
घने बादलों के पीछे से चाँद का खिलना,
पंखुडियाँ खोलकर कमल का खिलखिलाना,
वैसे घूँघट की आड से तेरा लाजवाब मुस्कुराना।

फ़क़त इस शौक़ में पूछी हैं हज़ारों बातें..
मैं तेरा हुस्न तेरे हुस्न-ए-बयाँ तक देखूँ ।

इस प्यार का अंदाज़ कुछ ऐसा है,
क्या बताये ये राज़ कैसा है;
कौन कहता है कि आप चाँद जैसे हो,
सच तो ये है कि खुद चाँद आप जैसा है।

Khubsurti ki Tareef Shayari in Hindi

Khubsurti ki Tareef Shayari in Hindi

तेरे हुस्न का दीवाना तो हर कोई होगा
लेकिन मेरे जैसी दीवानगी हर किसी में नहीं होगी।

तेरा हुस्न बयां करना नहीं मकसद था मेरा!!
ज़िद कागजों ने की थी और कलम चल पड़ी!!

ये तेरा हुस्न औ कमबख्त अदायें तेरी
कौन ना मर जाय,अब देख कर तुम्हे!!

नशीली आँखों से वो जब हमें देखते हैं,
हम घबरा कर आँखें झुका लेते हैं,
कौन मिलाये उन आँखों से आँखें,
सुना है वो आँखों से अपना बना लेते हैं।

तेरा हुस्न एक जवाब,मेरा इश्क एक सवाल ही सही
तेरे मिलने कि ख़ुशी नही,तुझसे दुरी का मलाल ही सही
तू न जान हाल इस दिल का,कोई बात नही
तू नही जिंदगी मे तो तेरा ख़याल ही सही

दुनिया में तेरा हुस्न मेरी जां सलामत रहे
सदियों तलक जमीं पे तेरी कयामत रहे

क्या तुझे कहूं तू है मरहबा.
तेरा हुस्न जैसे है मयकदा
मेरी मयकशी का सुरूर है,
तेरी हर नजर तेरी हर अदा!!

मेरी निगाह-ए-इश्क भी
कुछ कम नही,
मगर, फिर भी
तेरा हुस्न तेरा ही हुस्न है!

मेरा इश्क भी, तेरा हुस्न भी
गजलों में आके घुल गई
मेरी शायरी की किताब तू
कभी खो गई, कभी मिल गई!!

जिस मोड़ पे तू मिल गई
वहां एक नई राह खुल गई
तू नए किरण की बहार है
अब रात भी मेरी ढल गई!!

किसका चेहरा अब मैं देखूं…?
चाँद भी देखा…! फूल भी देखा…!!
बादल बिजली…! तितली जुगनूं…!!
कोई नहीं है ऐसा…! तेरा हुस्न है जैसा…!!

Husn ki Tareef Shayari

Husn ki Tareef Shayari

Tarif Kare Kya Apki Alfaz Nahi Milte
Aap Jese Chaman Ke Phool Bar-Bar Nahi Milte.

Taqdeer Se Tab Hume Hissa Milta Hai,
Pyar Bhara Koi Jab Rishta Milta Hai.
Roshan Ho Jaati Hai Saari Dunia..
Jab Rishton Me Aap Jaisa Farishta Milta Hai..!

Tere Deedar Ke Talabgaar To Bohut Honge Magr,
Dekhe Tu Jise Jee Bhar Ke Hasil
Ye Muqaam Faqat, Aaine Ko Hoga.

Nazuk Mizaj Hai Woh Pari Kuch Is Qadar,
Payal Jo Pehni Paon Me To Cham Cham Say Dar Gayi.

Tere Husn Ko Parde Ki Zaroorat Hi Kya Hai
Kaun Rahta Hai Hosh Me Tujhe Dekhne Ke Baad.

Teri Lehrati Julfe Na Jane Kya Kehti Hai,
Teri Jhuki Nazro Ko Dekhkar Log Kya
Kehte Hai, Humne Suni Hai Aapki Taarif
Apne Kaano Se, Log To Aapko Taj Mahal Kehte Hai.

Apko dekhar aati hai bahare,
Apko dekhkar chhate hai sitare
Lagta hai aapko banane me Nahi
Hui rab se thodi si bhi bhool.

Lafzo me kya tarif karu aapki,
Aap lafzo me kaise sama paoge,
Jb log hamare pyar k bare me puchenge,
Meri aankho me aye JAANU sirf tum nazar aoge.

Woh apka palke jhuka ke muskurana
Woh apka nazarein jhuka ke sharmana
Wese apko pata hai ya nahi hume pata nahi
Par is dil ko mil gaya hai uska nazarana.

Ap chahe bole jo bhi boli Ap toh hai
is dil ki humjoli Ab chahe ho mausam me
diwali ya holi Apki muskan toh bana deti hai rangoli.

Shayari for Beautiful Girl

Shayari for Beautiful Girl

शरीके-ज़िंदगी तू है मेरी, मैं हूँ साजन तेरा
ख्यालों में तेरी ख़ुश्बू है चंदन सा बदन तेरा

तेरी तरफ जो नजर उठी
वो तापिशे हुस्न से जल गयी
तुझे देख सकता नहीं कोई
तेरा हुस्न खुद ही नकाब हैं

मत पूछना मेरी खुशी की इंतेहा क्या होगी उस वक़्त…
क्यूंकी उस दिन खत्म मेरे बरसो का इन्तेजार होगा.!!!

अभी भी तेरा हुस्न डालता है मुझको हैरत में
मुझे दीवाना कर देता है जलवा जानेमन तेरा

क्या हसीन वो शाम होगी, क्या हसीन उस दिन सारा जहां होगा…
लाल सुनहरे जोड़े में सजा उस दिन मेरा यार होगा.!!!

आँखों में तेरी कोई करिश्मा ज़रूर है…
तू जिसको देख ले;
वो बहकता ज़रूर है…

हमें नहीं चाहिये ज़माने की खुशियाँ,
अगर मिल जाये मोहब्बत तुम्हारी…

बहुत खुबसूरत है हमारा सनम !
खुदा ऐसा चेहरा बनाता है कम!!

डूबकर तेरी झील सी गहरी आँखों में,
एक मयकश भी शायद पीना भूल जाए.

चांद रोज़ छत पर आकर इतराता बहुत था,
कल रात मैंने भी उसे तेरी तस्वीर दिखा दी.

Beautiful Shayari in Hindi

Beautiful Shayari in Hindi

सुबह का मतलब मेरे लिए सूरज निकलना नही,
तेरी मुस्कराहट से दिन शुरू होना है…

ऐसा ना हो तुझको भी दीवाना बना डाले,
तन्हाई मैं खुद अपनी तस्वीर न देखा कर!!

बाँहों में ले कर उसको फिर लबो की लाली चुराई थी
उस सर्द रात में साँसे भी शोला बन कर टकराई थी!!

टिका बिंदी, कंगना, पायल सब ने शोर मचाया था
जब उसके शोख बदन को मैंने हाथ लगाया था!!

इश्क के फूल खिलते हैं तेरी खूबसूरत आंखों में..,
जहां देखे तू एक नजर वहां खुशबू बिखर जाए॥

डूब गए थे हम दोनों उस दहकती प्यार की आग में
तोड़ दिया था हम ने कलियों को उसके प्यार के बाग़ में!

तुझको देखा तो फिर किसी को नहीं देखा,
चाँद कहता रहा मैं चाँद हूँ… मैं चाँद हूँ…।

कैसी थी वो रात कुछ कह सकता नहीं मैं
चाहूँ कहना तो बयां कर सकता नहीं मैं.

दुल्हन बन के मेरी जब वो मेरी बाँहों में आयी थी
सेज सजी थी फूलों की पर उस ने महकाई थी!

घूँघट में इक चाँद था और सिर्फ तन्हाई थी
आवाज़ दिल के धड़कने की भी फिर ज़ोर से आयी थी!!

BF GF ki Tareef Shayari

BF GF ki Tareef Shayari

प्यार से जो मैंने घूँघट चाँद पर से हटाया था
प्यार का रंग भी उतरकर उसके चेहरे पर आया था!

यू तारीफ ना किया करो मेरी शायरी की
दिल टूट जाता है मेरा जब तुम मेरे दर्द
पर वाह-वाह करते हो!

उनकी तारीफ़ क्या पूछते हो उम्र सारी गुनाहों में गुजरी
अब शरीफ बन रहे है वो ऐसे जैसे गंगा नहाये हुए है!

मिल जाएँगे हमारी भी तारीफ़” करने वाले.
कोई हमारी मौत की “अफ़वाह” तो फैलाओ यारों

एक लाइन में क्या तेरी तारीफ़ लिखू
पानी भी जो देखे तुझे तो प्यासा हो जाये!

क्या लिखूँ तेरी सूरत – ए – तारीफ मेँ , मेरे हमदम
अल्फाज खत्म हो गये हैँ, तेरी अदाएँ देख-देख के

ये इश्क़ बनाने वाले की मैं तारीफ करता हूं
मौत भी हो जाती है और क़ातिल भी पकड़ा नही जाता!

सभी तारीफ करते हैं, मेरी शायरी की लेकिन
कभी कोई सुनता नहीं, मेरे अल्फाज़ो की सिसकियाँ.

लोग भले ही मेरी शायरी की तारीफ न करे
खुशी दुगनी होती है जब उसे कॉपी पेस्ट में देखता हूं!

तारीफ़ अपने आप की, करना फ़िज़ूल है,
ख़ुशबू तो ख़ुद ही बता देती है, कौन सा फ़ूल है!

2 Line Tareef Shayari in Hindi

2 Line Tareef Shayari in Hindi

तेरी तारीफ मेरी शायरी में जब हो जाएगी
चाँद की भी कदर कम हो जाएगी!

उसने तारीफ़ ही कुछ इस अंदाज से की मेरी,
अपनी ही तस्वीर को सौ दफ़े देखा मैंने!!

मुझको मालूम नहीं हुस़्न की तारीफ,
मेरी नज़रों में हसीन ‘वो’ है, जो तुम जैसा हो,

ख्वाहिश ये बेशक नही कि “तारीफ” हर कोई करे
मगर “कोशिश” ये जरूर है कि कोई बुरा ना कहे.

तेरे हुस्न पर तारीफ भरी किताब लिख देता
काश के तेरी वफ़ा तेरे हुस्न के बराबर होती!

वो कहती हैँ हम उनकी झूठी तारीफ करते हैँ
ए खुदा बस एक दिन आईने को जुबान दे दे.

तारीफ़ के मोहताज नही होते हैं सच्चे लोग, ऐ दोस्त
असली फूलो पर कभी इत्र छिड़का नहीं जाता!

तेरे हुस्न की तारीफ मेरी शायरी के बस की नहीं
तुझ जैसी कोई और कायनात में बनी नहीं!

सोचता हु हर शायरी पे तेरी तारीफ करु
फिर खयाल आया कहीँ पढ़ने वाला भी
तेरा दीवाना ना हो जाए।

कैदखाने हैं बिना सलाखों के,
कुछ यूं चर्चे हैं तेरी आँखों के।

Most Beautiful Shayari in Hindi

Most Beautiful Shayari in Hindi

यूँ न निकला करो आज कल रात को,
चाँद छुप जायेगा देख कर आप को।

जरा उतर के देख मेरे दिल की गहराइयों में,
कि तुझे भी मेरे जज़्बात का पता चले,
दिल करता है चाँद को खड़ा कर दूं तेरे आगे,
जरा उसे भी तो अपनी औकात का पता चले।

कितनी खूबसूरत हैं आँखें तुम्हारी,
बना दीजिये इनको किस्मत हमारी,
इस ज़िंदगी में हमें और क्या चाहिए,
अगर मिल जाए मोहब्बत तुम्हारी।

हम तो अल्फाज़ ही ढूढ़ते रह गए,
और वो आँखों से गज़ल कह गए।

आँखें तेरी हैं जाम की तरह,
एक बार देखूं तो नशा छा जाये,
होंठ तेरे जैसे खिलते कँवल,
बोले तो हर चीज़ महक जाये,
बाल हैं तेरे नागिन जैसे,
जैसे आसमान पे काली घटा छाए,
गालों पे वो गुलाब की सुर्खी,
मुझ को देख के जब तू शरमाये,
तुझको चलता देख के दिलबर,
चाँद भी बदली में छुप जाये।

घनी जुल्फों के साये में चमकता चाँद सा चेहरा,
तुझे देखूं तो कुछ रातें सुहानी याद आती हैं।

क़यामत टूट पड़ती है ज़रा से होंठ हिलने पर,
ना जाने हश्र क्या होगा अगर वो मुस्कुराये तो।

Tareef Shayari In English

Tareef Shayari In English

Din ki ye tapti dhoop Us par
Ye aapki baate khoob Dil Se
Muskurate mere mehboob Dekha
Nahi pehle apka ye sunehra roop.

Khwab Bankr Apki Ankho Me Samana Hai,
Dawa Bankr Apka Har Dard Mitana Hai,
Qabool Hai Mujhe Zamane Bhar Ki Nafrat Par,
Aapka Pyar Bankar Aapko Pana Hai..

Apki hasi pe chhidakte hai hum jaan
Apki khushi pe toh hai sab kuch kurban
Apke bin toh ye jahan lage viran
Kyuki ap toh hai jese is dil ka gulistaan.

Dil ki nahi jaan ki jarurat ho tum
Zami ki nahi aasmaan ki inayat ho tum
Aur ab hum kya apki tareef kare Husn ki
Nahi kayamat ki murat ho tum.

Apke deedar ko nikal aaye hai taare
Apki khushboo se chha gayi hai bahare
Apke sath dikhte hai kuch ese nazare
Ki chup-chup ke chand bhi bas aapko nihare.

Teri sadgi ko nihaarne ka dil karta hain,
Tamam umar tere naam karne ka dil karta hai
Ek mukamal shayari hain tu kudrat ki,
Tujhe ghazal banake juban pe lane ka dil krta hai.

Pyar ko pyar ka taufa nahi dete,
Dil ko jazbaat ka taufa nahi dete,
Dene ko to hum apko chand dete magar,
Chand ko chand ka taufa nahi dete…!

Kuch nasha apki baton ka hai,
Kuch nasha dheemi barsat ka hai,
Hame ap yun hi sharabi mat kahiye,
Yeh dil par asar apke mulaqat ka hai…!

Mat muskurao itna ke phoolon ko
Khabar lag jaye, ke kare woh tumhari tareef,
Aur tumhe uski nazar lag jaye.

Chand se haseen hai chandni,
Chandni se haseen hai Raat,
Raat se haseen hai Chand,
Aur chand se haseen hai aap!

Hello Guys, आप सब अगर आपको ये Tareef Shayari अच्छा लगा हो तो प्लीज दोस्तों इस शायरी फोटो को अपने दोस्तों और सोशल मीडिया (Social Media) में जरूर शेयर करे जैसे की Facebook Group, Instagram, Pinterest और Whatsapp Group और बाकी सोशल मीडिया platforms पर  जरूर शेयर करे। आप हमे Instagram, Facebook, Twiter पर भी Follow करे!

Back to top button